ॐत्योहार भारत के रिवाज़ों का एक अभिन्न अंग हैं। सनातन धर्म अतीत काल से ही चला आ रहा है। और इसका कारण तो यही प्रतीत होता है कि इसके अनुयायी जीवन के सुख-दुःख की घाटिओं से होते हुए धर्म की रीतिओं और संस्कृति की रक्षा करते आए हैं। त्योहार और व्रत इस धर्म के ऐसे आयोजन हैं जो उल्लास, पूजन, प्रार्थना, दान, संप्रदान इत्यादि का उपलक्ष प्रकट करते हैं।

सनातन धर्म में हम त्योहारों को विभिन्न कारणों से मनाते हैं। कभी वे फ़सल की कटाई के उल्लास के रूप में मनाए जाते हैं और कभी वे भगवान्‌ के प्रति आस्था को सुदृढ़ करने का काम करते हैं। कोई त्योहार हमें एक-दूसरे से भेंट कराता है और कोई तो हममें इंसानियत और दान की भावना उत्पन्न करता है। कुछ त्योहार विशेष रिश्तों की गांठ मजबूत करने के लिये भी मनाए जाते हैं।

परंतु ये आज का अभिशाप ही कहा जा सकता है कि लोग त्योहारों का मूल अर्थ ही भूलते जा रहे हैं। कुछ लोग तो इस अध्यात्म के सफ़र को तुच्छ बना कर एक अंतहीन, बेहोश और मादक रूप दे देते हैं। त्योहारों के नाम पर, लोग आज, दान की अपेक्षा मद्यपान करते हैं और उल्लास की आड़ में उद्दण्डता का प्रचार करते हैं। प्रत्युत्तर स्वरूप, आज यह आवश्यक हो गया है कि हम अपने मूल संस्कारों तथा संस्कृति की पुनर्स्थापना करें और इंसानियत को एक नया जीवन दान दें।

“जब सब कुछ एक निरंतर कार्निवल हो जाता है, तब कोई कार्निवल शेष नहीं रह जाता।“विक्टर ह्यूगो

त्योहार

ॐ सर्वधर्मान्परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज | अहं त्वां सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुच: ||

पुराण सनातन धर्म के पुरातन शस्त्रों की गणना में आते हैं। उनमें भगवान्‌ के अवतारों तथा पुरातन राजाओं की व्याख्या की गयी है। कलियुग के धर्मों का ध्यान रखते हुए, इन शास्त्रों में कहा गया है कि जब भगवद् प्राप्ति के सब मार्ग यानी तप, पवित्रता, दया और सत्य - लुप्त हो जाते हैं, तब भक्ति ही एक मात्र पथ प्रदर्शक बन सकती है। पुराणों में अनन्य कलियुग में करने योग्य व्रतों का वर्णन किया गया है। उनमें संवत्सर में कल्याणकारी व्रतों की पूर्ण विधि बताई गई है। आप यहाँ सनातन धर्म के कुछ लोकप्रिय त्योहार और पुराणों के यथा रूप वर्णन में उनकी पूजा विधि के बारे में जान सकते हैं।

शिवरात्रि व्रत की विधि एवं महिमा

ॐशिव पुराण के कोटि-रुद्र-संहिता के अड़तीसवें अध्याय में सूत जी, भगवान शिव के द्वारा विष्णु को बतायी हुई शिवरात्रि व्रत विधि एवं महिमा का वर्णन करते…Read more

मकर संक्रांति

ॐमकर संक्रांति भारत में फ़सल की कटाई पर मनाए जाने वाला त्योहार है। इसी हम अति उत्साह और उल्लास के साथ मनाते हैं। इस त्योहार में सूर्य…Read more

सरस्वती पूजा (वसंत पंचमी)

ॐसरस्वती पूजा भारत में मनाए जाने वाले त्योहारों में एक महत्वपूर्ण त्योहार है। भगवती सरस्वती बुद्धि और ज्ञान की देवी हैं। वेदों की वाणी को उनका निवास…Read more

मार्च, २०२० के त्योहार एवं उनकी तिथि